टांगराईन, पोटका में महिला फुटबॉल प्रतियोगिता, खिताब जीता यूएमएस, देवली की टीम ने

~महिला हिंसा के खिलाफ नजरिया बदलो अभियान के तहत महिला फुटबॉल का आयोजन~

~प्रतियोगिता का आयोजन क्रिया, नयी दिल्ली एवं युवा, जमशेदपुर के सहयोग से किया गया~

 

जमशेदपुर, 1 दिसंबर, 2018: महिला हिंसा के खिलाफ नज़रिया बदलो अभियान के तहत क्रिया, नयी दिल्ली एवं युवा, जमशेदपुर के तत्वावधान में आज टांगराईन, पोटका में आयोजित महिला फुटबॉल प्रतियोगिता का खिताब यू.एम.एस., देवली ने जे.एफ.ए., जानमडीह की टीम को 1-0 से फाइनल में हराकर जीत लिया।

विजेताओं को मुख्य अतिथि समाजसेविका अंजलि बोस, टांगराईन पंचायत की मुखिया श्रीमती सुशीला मुंडा एवं ‘युवा’ की सचिव बर्णाली चक्रवर्ती ने पुरस्कृत किया।

टांगराईन की सूरजमनी सरदार को बेस्ट गोलकीपर का पुरस्कार दिया गया।


प्रतियोगिता में जानमडीह, टांगराईन की दो टीमों, देवली, सारसे एवं गोमियासाई की कुल छह टीमों ने भाग लिया।

प्रतियोगिता का संचालन अनुभवी रेफरी गीतिलता के अर्जुन सिंह ने किया।

आरंभ में फुटबॉल टूर्नामेंट का उद्घाटन टांगराईन पंचायत की मुखिया सुशीला मुंडा ने किया।

प्रतियोगिता के दौरान कमेंटरी वार्ड सदस्य मंगला मांझी ने किया।

पुरस्कार वितरण समारोह में श्रीमती अंजलि बोस, बर्णाली चक्रवर्ती, उज्ज्वल मंडल, राजाराम मुंडा, मनोरंजन सरदार, हरीश महतो, मेनसिंह सरदार, हेम सरदार, जीतेन सरदार आदि उपस्थित थे।

पुरस्कार वितरण समारोह को संबोधित करते हुए ‘युवा’ की सचिव बर्णाली चक्रवर्ती ने कहा कि नजरिया बदलो अभियान के तहत फुटबॉल प्रतियोगिता का आयोजन इसलिए किया गया है ताकि समाज के सारे लोगों का महिलाओं के प्रति नजरिया बदले।

उन्होंने कहा कि शारीरिक विशिष्टता के नाम पर युवतियों व महिलाओं की आज़ादी पर लगाम नहीं लगाना चाहिए और महिलाओं-बालिकाओं को भी खेलकूद जैसी गतिविधियों में भाग लेने का अवसर मिलना चाहिए। उन्होंने कहा दिन-रात, सुनसान रास्तों के डर की वजह से महिलाओं की प्रतिभा का समुचित विकास नहीं हो पाता और वे विभिन्न प्रकार की गतिविधियों में भाग लेने से वंचित रह जाती हैं।

 

 

(सारी तस्वीरों के छायाकार हैं उत्तम आचार्जी)

Leave a Reply